लखनऊ। मजदूरों को अस्पताल में बंधक बनाकर जबरन इलाज

Spread the love

लखनऊ।मजदूरों को अस्पताल में बंधक बनाकर जबरन इलाज, तीन थानों की फोर्स ने मजदूरों को कराया बंधन मुक्त,एमसी सक्सेना ग्रुप ऑफ कॉलेज के प्रबंधक गिरफ्तार

लखनऊ। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र स्थित एमसी सक्सेना ग्रुप ऑफ कॉलेज में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। यहां करीब 1००मजदूरों को मजदूरी का लालच देकर लाया गया। इसके बाद उन्हें मजदूरी कराने के बजाय अस्पताल में भर्ती कर दवाई दी गई।

इतना ही नहीं बकायदा बेड पर उनका इलाज शुरू कर दिया गया। यह देख मजदूरों मजदूरों ने हंगामा करना शुरू किया तो उन्हें डरा धमका कर चुप करा दिया गया।

किसी तरह अस्पताल से भागकर एक मजदूर ने पूरे मामले की शिकायत पुलिस से की। इसके बाद मजदूरों को बंधन मुक्त कराया गया।

डीसीपी पश्चिम सोमेन वर्मा के मुताबिक किसी तरह अस्पताल से भागकर आया एक मजदूर अंशू कुमार ने ठाकुरगंज थाने पर शिकायत की।

मजदूर का कहना था कि एमसी सक्सेना ग्रुप ऑफ कॉलेज में कुछ मजदूरों को अलग-अलग जगह से ले जाया गया है। इन्हें 4०० से 5०० रुपये तक दिहाड़ी के रूप में दिए जाने का लालच दिया गया।

साथ ही तीन टाइम खाना दिया जाएगा। वहां जब मजदूर पहुंचे तो उन्हें बेड पर लिटा कर अवैध रूप से इलाज किया जाने लगा। आरोप है कि जिन लोगों का इलाज किया जा रहा था वह पूरी तरह से स्वस्थ थे।

मजदूर की शिकायत पर तीनों थानों की फोर्स मौके पर पहुंची और मजदूरों को बंधन मुक्त कराया। पुलिस ने एमसी सक्सेना ग्रुप ऑफ कॉलेज के डॉ. शेखर सक्सेना को गिरफ्तार किया है। मामले में पुलिस आगे की जांच-पड़ताल कर आगे की कार्रवाई कर रही है।

College की मान्यता के लिए तैयार करना था रिकार्ड

सूचना पाकर मौके पर पहुंची मेडिकल टीम ने जांच-पड़ताल किया। पड़ताल में सामने आया कि मेडिकल कॉलेज की एफिलेशन लेकर मजदूर के रूप में फर्जी मरीजों का इलाज किया जाना था।

उनका विगो और बोटल लगाकर इलाज किया जा रहा था। इसका बकायदा रिकार्ड भी बनाया गया था। फिलहाल मामले में पुलिस ने मजदूरों की शिकायत पर मेडिकल कॉलेज प्रशासन पर मुकदमा लिखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *